देशी खबर

Captain Shiva Chauhan: भारत की पहली महिला अधिकारी जिसे सियाचिन पर पोस्टिंग किया गया

इंडियन शिवा चौहान भारत की पहली महिला अधिकारी है जो आज पूरे देश का नाम रौशन कर दिया है। आज हर जुबान पर शिवा चौहान की बाते चल रही है। कैप्टन शिवा चौहान पूरे भारतीय सेना का भी नाम ऊँचा किया है। आज शिवा चौहान पहली महिला अधिकारी बन कर दुनिया के सबसे ऊंचे युद्धक्षेत्र पर मौजूद है। शिव चौहान इस स्थान पर पहुँचने के लिए दिन रात मेहनत किया है और आज वो इस मुकाम हासिल कर लिया जो आज तक किसी महिला अधिकारी ने नहीं किया था।

आज पूरा देश शिवा चौहान पर गर्व कर रहा है की देश की पहली बेटी सियाचिन की सीमा पर मौजूद है। सियाचिन पर पोस्टिंग हर किसी को नहीं किया जाता है। जो अधिकारी या आर्मी अपनी काबिलियत देखता है उसी को वहां पोस्टिंग किया जाता है। आज हम आपको शिवा चौहान की पूरी काबिलियत हम आपको बतायेगे की उनको यहाँ तक पहुँचने के लिए क्या क्या करना पड़ा है।

captain shiva chauhan

शिवा चौहान की पोस्टिंग

दुनिया की सबसे ऊँची स्थान सियाचिन ऑपरेशन जिसकी ऊंचाई 15632 फिट है वह पर शिवा चौहान का 2 जनवरी 2023 को  पोस्टिंग की गयी है। सियाचिन में तापमान -50 डिगरी रहता है यहाँ पर सेना तापमान के कारण अपना जान गवा बैठते है। यहाँ इस पोस्टिंग पर सेना को 24 घंटे चौकना रहना पड़ता है। पाकिस्तान और चीन से विवादित सीमा है सियाचिन। यहाँ पर ऑक्सीजन की भी कमी रहता है।

शिवा चौहान जीवनी

शिवा चौहान उदयपुर में 18 जुलाई 1997 को हुआ था। शिवा चौहान  पिता का नाम राजेंद्र सिंह चौहान था और माता का नाम अंजलि चौहान है। राजेंद्र सिंह चौहान रेडियम नंबर प्लेट की दुकान चलाते थे । माता घर के कामकाज चलती है। 2008 में अचानक बीमारी के कारण पिता राजेंद्र चौहान इस दुनिया से चल बसे। माता अंजलि को घर चलने की पूरी जिम्मेदारी आ गयी। माँ की इस जिम्मेदारी में शिवा ने हाथ बताना शुरू कर दिया वो बच्चो को टूशन पढ़ने लगी।

शिवा चौहान की शिक्षा

शिवा चौहान अपनी पूरी शिक्षा उदयपुर में ही किया था। अपनी हाई स्कूल की पढ़ाई पूरी कर के शिवा चौहान अपने उदयपुर में टेक्नो इंडिया प्रोधोगिकी संसथान उदयपुर से सिविल इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी किया। इंजीनियरिंग पूरा होने बाद इंडियन आर्मी में जाने की तैयारी करना शुरू कर दिया और 6 महीने बाद उसका रिजल्ट आया और उन्होंने अपना दौर और मेडिकल निकाल कर 2020 में आर्मी ज्वाइन किये।

 इंडियन आर्मी ज्वाइन

2020 में शिवा ने भारतीय सेना की हिस्सा बनी और उनकी मेहनत को देखते हुए उन्हें थल सेना का कैप्टन बना दिया गया। 2020 में चेन्नई में ऑफिसर्स ट्रेनिंग कर के शिवा चौहान आर्मी के 14वीं फायर एंड फ्यूरी कैप्टन है। 18 जुलाई 2021 को शिवा को पहली पोस्टिंग मिला था। जुलाई 2022 में कारगिल विजय दिवस पर आयोजित कारगिल युद्ध स्मारक तक सुरा सोई साइकिल अभियान का नेतृत्व किया। अभी 2 जनवरी 2023 को शिव चौहान को सियाचिन पर पोस्टिंग दिया गया है। यहाँ इस पोस्ट पर गलवान घाटी में चीनी सेना को खदेड़ा गया था उस को सबक सिखाया गया था की इंडियन आर्मी किसी से कम नहीं है।